प्रशांत रायचौधरी
किशोर कुमार को योडलिंग किंग कहा जाता है लेकिन आज जाल सभागृह इंदौर में जो कार्यक्रम हुआ उसमें बगैर यॉडलिंग के सारे सिंगरों ने महफिल लूट ली। मनीष शुक्ला, सचिन वाघ (दोनों इंदौर) और जयपुर आकाशवाणी के अखिलेश शर्मा के बेहतरीन गानों और अपनी आवाज की मधुरता से खूब तालियां बटोरी। अमृता तिवारी और सुनयना ठाकुर ने डुएट में उनका बखूबी साथ दिया। पिंकी श्रीवास्तव का मंच संचालन भी प्रशंसनीय था। उनके चेहरे की मुस्कान और त्वरित हाजिर जवाबी को लोगों ने खूब पसंद किया।
सदाबहार सिंगर्स फैमिली के सीनियर सिंगर सतीश केसवानी ने माउथ ऑर्गन बजाकर वाहवाही लूटी।किशोर कुमार पर प्रोग्राम था तो हॉल खचाखच भरना ही था उस पर इंदौर के लोकप्रिय सिंगर मनीष शुक्ला जो मंच पर थे। सुनयना ठाकुर के साथ आज रपट जाए/मच गया शोर सारी नगरी में/ तुम साथ हो जब अपने और सोलो सिंगिंग में कुछ तो लोग कहेंगे, ओ मुकद्दर का सिकंदर गाकर किशोर कुमार को अच्छे से निभाया। जयपुर के अखिलेश शर्मा जो कभी इंदौर में रहते थे उन्होंने सोलो सिंगिंग में मेरे महबूब कयामत होगी/खिलते हैं गुल यहां/जीवन से भरी तेरी आंखें बखूबी गाया। जीवन से भरी तेरी आंखें में वंस मोर की इतनी आवाजें गूंजी कि उन्हें एक टुकड़ा दोबारा गाना पड़ा। अखिलेश ने अमृता तिवा

री के साथ कब के बिछड़े हुए हम खूब अच्छे से गाया। उन्होंने कई और गाने गाए और वाहवाही लूटी। सचिन वाघ को भी श्रोताओं ने खूब पसंद किया। उन्होंने कई डुएट गाए। सागर किनारे दिल ये पुकारे (अमृता तिवारी के साथ), वादा करो छोड़ोगे नहीं मेरा साथ (अमृता तिवारी के साथ), लेकर हम दीवाना दिल (सुनयना ठाकुर के साथ) और सोलो में एक अजनबी

 हसीना से सुंदर ढंग से गाया। गाने तो और भी हुए लेकिन सब का वर्णन संभव नहीं है।

कार्यक्रम का आयोजन मशवरा (अध्यक्ष असिता शर्मा) व संगीत सरोवर (अध्यक्ष सचिन वाघ) ने किया था। सहयोगी थे म्युजिक अफेयर,फ्यूजन ब्रदर्स व लिंबोदिया फ्लोरिस्ट। असिता जी ने यह आयोजन अपने पति स्व.प्रवीण शर्मा की याद में आयोजित किया।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.