मनीषा व्यास

( शिक्षिका व लेखिका होने के साथ मंचीय कवियित्रि, उत्कृष्ट प्रस्तोता हैं। प्रोफेशनल संचालन में कुशल।)

——–

आज के विद्यार्थियों के लिए नैतिक शिक्षा आवश्यक…

वर्तमान युग आधुनिकता का युग है,नैतिक मूल्य ही समाज का सुदृढ़ आधार है। संस्कृत साहित्य में नीतिशतकम संस्कृत का एक महत्वपूर्ण नीतिपरक काव्य ग्रंथ हैं। जो नैतिक मूल्यों को विकसित करने में मदद करता है।जिसका अद्भुत प्रभाव देखने को मिलता है।

बालक को जिस प्रकार समझ में आए उसे उसी प्रकार से समझाया जाना चाहिए।

शिक्षा से जुड़े आयाम से बालकों को विकसित करना चाहिए।उचित वातावरण का निर्माण शिक्षा के लिए आवश्यक है।कहानियों से बच्चों के मन को परिवर्तित किया जा सकता है।नैतिक मूल्य समाज में सकारात्मकता लाने के लिए आवश्यक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.