भारतीय पत्रकारिता महोत्सव के लोगो का विमोचन

इंदौर। संपादक का ताकतवर, निर्णायक और निष्पक्ष होना आज समय की जरूरत है। समाज ने पत्रकारिता को अन्य व्यवस्थाओं से अलग सम्मानित स्थान दिया है और उस पर भरोसा किया है। पत्रकारिता में संपादक को अपना मजबूत स्थान दिलाकर सरकारों और देश के लिए उपयोगी पत्रकारिता की जा सकती है।

यह बात वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र शर्मा ने स्टेट प्रेस क्लब, म.प्र. द्वारा आगामी 14, 15 एवं 16 अप्रैल को आयोजित भारतीय पत्रकारिता महोत्सव के “लोगो विमोचन समारोह” में बतौर मुख्य अतिथि कही। श्री शर्मा ने कहा कि देश में संपादक नामक संस्था की पुनर्स्थापना की जाना बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि आजादी से लेकर आज तक पत्रकारिता ने कई दौर देखे हैं। आपात काल में जब राष्ट्रवादी विचारधारा के समाचार पत्र पर मुश्किल का दौर आया तब शेष समाचार पत्र समूहों ने वैचारिक भिन्नता के बावजूद साथ दिया। आज के दौर में प्रतिस्पर्धा के चलते इस भाव में कमी आई है।

श्री शर्मा ने कहा कि वर्तमान दौर में पत्रकारिता के समक्ष कई चुनौतियां आ रही हैं लेकिन ईमानदारी और ज्ञान के बल पर श्रेष्ठ पत्रकारिता की जा सकती है।उन्होंने कहा कि पहले पत्रकारिता विश्वविद्यालयों में पढ़ाई नहीं जाती थी, तब स्वस्थ प्रतिस्पर्धा होती थी, अब समय बहुत बदल गया है। श्री शर्मा ने इंदौर की पत्रकारिता परम्परा की तारीफ की और कहा कि स्व. राहुल बारपुते, स्व. माणिकचंद बाजपेयी, स्व. राजेन्द्र माथुर, स्व. प्रभाष जोशी, स्व. शरद जोशी जैसे पुण्यशाली कलमकारों के प्रताप की वजह से भारतीय पत्रकारिता महोत्सव जैसे आयोजन सफल होते रहेंगे।

सम-सामायिक विषयों पर महत्वपूर्ण चर्चा से पत्रकारिता को एक नई दिशा मिलेगी

कार्यक्रम के अध्यक्ष वरिष्ठ पत्रकार डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी ने कहा कि इंदौर के मूर्ध्यन्य संपादकों की पुण्याई है कि भारतीय पत्रकारिता महोत्सव विगत 13 वर्षों से अनवरत जारी है। इंदौर के संपादकों ने पत्रकारिता जगत में योग्य पत्रकारों की एक लम्बी श्रंखला तैयार की। उन्होंने इंदौर में पत्रकारिता से संबद्ध कई महत्वपूर्ण जानकारियां दीं जैसे कम्पोजिंग, ऑफसेट प्रिंटिंग, पहला सांध्यकालीन अखबार, पहला वेबपोर्टल इन सबकी शुरूआत इंदौर से हुई है।

उन्होंने कहा  ख़ुशी की बात है कि यह सिलसिला अब देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के पत्रकारिता विभाग में संचालित हो रहा है। डॉ. हिन्दुस्तानी ने कहा कि पत्रकारिता महोत्सव में सम-सामायिक विषयों पर महत्वपूर्ण चर्चा होगी और उसके सार तत्व से पत्रकारिता समाज को एक नई दिशा मिलेगी।

मीडियाकर्मी एवं गणमान्यजन की उपस्थिति

होटल सरोवर पोर्टिको में आयोजित इस कार्यक्रम के अतिथि राजेन्द्र शर्मा एवं डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी ने लोगो का विमोचन कर महोत्सव की तैयारियों का श्री गणेश किया।

इस अवसर पर वेब दुनिया के प्रधान संपादक संदीप सिंह सिसोदिया, फ्री प्रेस के वरिष्ठ पत्रकार मनोहर लिम्बोदिया, सहारा समय म.प्र. / छग के संपादक सुदेश तिवारी, मनी 4 ड्राइव के संचालक जेम्स पाल, वरिष्ठ पत्रकार संजीव आचार्य एवं भाजपा की प्रदेश प्रवक्ता डॉ. दिव्या गुप्ता भी विशेष रूप से उपस्थित थे।

प्रारंभ में अतिथियों का स्वागत डॉ. मानसिंह परमार, विवेक गोरे, रचना जौहरी, संजय लुणावत, आलोक बाजपेयी, अभिषेक बडजात्या, घनश्याम पटेल एवं नवनीत शुक्ला ने किया। अतिथियों को संजू माहोरे और प्रियंका पांडे ने स्मारिका “दायरा” भेंट की. स्मृति चिन्ह डॉ. सोनाली नरगुंदे एवं सोनाली यादव ने भेंट किए. कार्यक्रम का संचालन प्रवीण कुमार खारीवाल ने किया। सुदेश तिवारी ने आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में मीडियाकर्मी एवं गणमान्यजन उपस्थित थे।

ये होंगे खास…..

स्टेट प्रेस क्लब के अध्यक्ष प्रवीण खारीवाल ने बताया कि तीन दिनी पत्रकारिता  महोत्सव राष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रखर पत्रकारिता से विशिष्ट पहचान बनाने वाले इंदौर के पांच संपादकों स्व. राहुल बारपुते, स्व. माणिकचंद बाजपेयी, स्व. राजेन्द्र माथुर, स्व. प्रभाष जोशी, स्व. शरद जोशी की स्मृति को चिरस्थाई रखने के उद्देश्य से आयोजित किया जाता है।

आयोजन के मुख्य बिंदु-

– पत्रकारिता महोत्सव में कई महत्वपूर्ण सत्र होंगे जिसमें उल्लेखनीय होंगे मीडिया कल, आज और कल, आत्मनिर्भर पत्रकारिता का दौर, मीडिया शिक्षा. स्वास्थ्य पत्रकारिता आदि।

-देश में अलग-अलग शहरों के प्रेस क्लब के प्रतिनिधियों को आमंत्रित कर ‘’ शिखर संवाद 2022 ’’ होगा।

-म.प्र के रचनाकार मीडियाकर्मी जो पुस्तकें आदि लिख रहे हैं उन्हें ‘’शब्द ऋषि सम्मान ’’ दिया जाएगा।

– आयोजन रवींद्रनाट्य गृह एवं प्रीतमलाल दुआ सभागार में होंगे।

– तीनों दिन शाम को विशेष सांस्कृतिक संध्या आयोजित की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.